RBI Penalty: RBI आया एक्शन में L&T Finance को लगाया 2.5 करोड़ रुपये का जुर्माना

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

हाल ही में दोस्तों एल&टी फाइनेंस को 2.5 करोड रुपए का जुर्माना लगा है क्योंकि आरबीआई ने नॉन बैंकिंग फाइनेंस कंपनी के तहत (NBFC) के तहत कुछ नियमों का पालन न करने की वजह से L&T Finance.ltd पर 2.5 करोड रुपए का जुर्माना लगाया है। और Vakrangee Share Price: वक्रांगी के मजबूत Q1FY24 परिणाम देख होंगे हैरान

RBI Penalty

भारतीय रिजर्व बैंक ने नॉन बैंकिंग फाइनेंस कंपनी एनबीएफसी से संबंधित कुछ नियमों का पालन न करने की वजह से इंट डिफेंस लिमिटेड पढ़ाई करो रुपए का जुर्माना लगाया है और आरबीआई ने कहा है कि कंपनी का वैधानिक निरीक्षण करने के बाद आई रिपोर्ट से यह पता चल रहा है।

कि एनबीएफसी ने अपने खुदरा कर्जदारों को लोन आवेदन पत्र/मंजूरी पत्र में अलग-अलग श्रेणियां के उधारकर्ताओं से अलग-अलग ब्याज दरों पर वसूली के जोखिम के वर्गीकरण और औचित्य का खुलासा नहीं किया है।

केंद्रीय बैंक का कहना है कि एनबीएफसी लोन मंजूरी के समय बताई गई दंडात्मक व्यर्थ से ज्यादा ब्याज वसूल की। और वह जुर्माना स्वरूप ब्याज दर में बदलाव के बारे में किरदारों को समय पर जानकारी देने पर विफल रही है।

RBI Penalty पर कंपनी के जवाब

अब मैं उसके द्वारा किया गया अतिरिक्त प्रस्तुतीकरण और व्यक्तिगत सुनवाई के दौरान किया गया मौखिक प्रस्तुतीकरण पर विचार करने के बाद आरबीआई इस निष्कर्ष पर पहुंचा है कि नों कंप्लायंस का आरोप प्रमाणित हो गया है और मौद्रिक दंड लगाने की जरूरी है।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

बस यही था आज कैसे ब्लॉक पोस्ट में आरबीआई पेनल्टी के बारे में जिसकी वजह से एल&टी फाइनेंस को 2.5 करोड रुपए का जुर्माना लगाया गया।

अभी देखें  Canara Bank Personal Loan Apply Process: 10000 से 3 लाख तक का लोन पाए मात्र ५ मिनट में, ऐसे करें आवेदन
WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

Leave a Comment

आप MobiYojna.com के साथ नवीनतम अपडेट के बारे में सूचित रहें। हम आगामी सरकारी योजना और Latest खबरे जैसे सरकारी Job रिक्तियों, आवेदन की समय सीमा, परीक्षा कार्यक्रम से जुड़ी सटीक जानकारी प्रदान करते हैं।

Note: अपने सभी पाठको से विनम्र अनुरोध करते है कि, आप mobiyojna.com  पर दी गई किसी भी जानकारी के संबंध मे कोई भी बड़ा कदम उठाने से पहले उस खबर की अपने स्तर पर सत्ययता / Authentication  की जांच अवश्य करें।